महिला को पागल कर देने वाला वशीकरण मंत्र

महिला को पागल कर देने वाला वशीकरण मंत्र

महिला को पागल कर देने वाला वशीकरण मंत्र

महिला को पागल कर देने वाला वशीकरण मंत्र, किसी महिला को संपूर्ण वश में तभी समझा जाना चाहिए, यदि उसके मन-मस्तिष्क, आचार-व्यवहार, बात-विचार और यहां तक कि उसके चाल-ढाल तक को काबू में कर लिया जाए।

यानी कोई महिला पत्नी हो या फिर प्रेमिका, उसका वशीकरण इस हद तक हो ताकि वह सम्मोहन में पागलपन की हद तक वशीभूत हो जाए। इस संबंध में वैदिक अनुष्ठान, तंत्र-मंत्र की साधना या टोने-टोटके की मदद से महिला को पागल किया जा सकता है।

महिला को पागल कर देने वाला वशीकरण मंत्र
महिला को पागल कर देने वाला वशीकरण मंत्र

यहां पागल कर देने का अर्थ किसी मनोरोगी बनाने से नहीं, बल्कि उसका पूरी तरह से समर्पित होने से है। इसमें उसका समर्पण भावनात्मक रूप से लेकर सेक्स-संबंध के स्तर तक होना चाहिए।

उसे अपने प्रिय को संभोग-सुख देने में किसी भी तरह की कमी नहीं आने देना चाहिए और इसे उसके द्वारा एक कर्तव्य की तरह समझा जाना चाहिए। 

कामदेव मंत्र 

मनपसंद औरत से शादी हो जाए, या प्रेमिका किसी गलतफहमी का शिकार होकर रूठ जाए या फिर पत्नी सेक्स संबंध बनाने में भावनात्मक तौर पर आनाकानी करे।

इस स्थिति में कामदेव मंत्र का जाप करना चाहिए। यह मंत्र महिला औरत को अपना दीवाना बनाने और यौन क्षमता बढ़ाने में काफी मददगार साबित हो सकता है।

ज्योतिष के अनुसार इससे शुक्र ग्रह की मजबूती आती है और कामदेव प्रसन्न होते हैं। इसे ज्योतिषी के बताए हुए विधि-विधान के साथ करना चाहिए। वह मंत्र इस प्रकार हैः-  ऊँ कामदेवाय विद्यहे, रति प्रियायै धीमहि, तन्नो अनं प्रचोदयाता!

इस मंत्र के प्रातः 108 बार जाप करने से न केवल सुयोग्य जीवनसंगिनी मिलती है, बल्कि दांपत्य जीवन में प्रेम भी बढ़ता है। इसके साथ शुक्र मंत्र ऊँ द्राँ द्रीं द्राँ सः शुक्राय नमः का भी जाप करना जरूरी है। कामदेव का एक शाबर मंत्र भी हैः-

 ऊँ नमो भगवते कामदेवाय यस्य यस्य दृश्यो भवामि यस्य यस्य मम मुखं पश्यति तं तं मोहयतु स्वाहाः!! इस मंत्र का 21 बार जाप दंपति को सोने से पहले वशीकरण किए जाने वाली औरत के सामने  करने से व्यक्ति में उसके प्रति आकर्षण बढ़ता है और दोनों की यौनेच्छा प्रबल होती है। 

अभिमंत्रित राईः कहने को तो ह्रींन! एक शब्द का छोटा सा मंत्र है, लेकिन इसके 108 बार जाप कर राई को अभिमंत्रित करने के बाद उसका प्रयोग वशीकरण किए जाने वाली महिला के ऊपर करने के मनोवांछित परिणाम आते हैं।

प्रातः स्नान के बाद पूजा घर में बैठकर एक मुट्ठी राय दाएं हाथ में रखें और मंत्र का 101 बार जाप करें। इस तरह से अभिमंत्रित राई को संभालकर एक पुड़िया बना लें और मौका देखकर महिला के सिर पर डाल दें। 

भगवान श्रीकृष्ण का मंत्र

यह उपाय वैसे प्रेमी के लिए विशेष कर उपयोगी है, जिसकी प्रेमिका रूखेपन के साथ पेश लगी हो और उसका लगाव किस और के साथ होने लगा हो। उसे अपना दीवाना बनाने और विवाह के लिए तैयार करने के लिए भगवान श्रीकृष्ण के मंदिर में जाकर फूल, धूप दीप से पूजा करें और मिश्री का भोग लगाएं।

साथ ही उन्हें बांसूरी अर्पित करें और नीचे दिए गए मंत्र का 108 बार उच्चारण के साथ करें। इस उपाय को शुक्रवार के दिन करें और इसी दिन प्रेमिका से उसके पसंदीदा उपहार के साथ मुलाकत भी अवश्य करें। संभव हो तो डीनर या डेटिंग पर भी जाएं।

म्ंात्रः  ऊँ क्लीं कृष्णायः गोपीजनः वल्लभायः स्वाहः!! 

वशीकरण और यौन इच्छा  

वशीकरण के इस उपाय से महिला को सेक्स के लिए जागृत किया जा सकता है और यौन इच्छा की संतुष्टि हासिल की जा सकती है। यह उपाय संतान की कामना करने वाले दंपति के लिए बेहद उपयोगी साबित हो सकता है।

इससे महिला वशीभूत होकर यौन संबंध बनाने के लिए पागल हो जाती है और अपने साथी का भरपूर सहयोग देती है। इस उपाय को किसी भी दिन किया जा सकता है और इसका असर 107 दिनों तक रहता है। जिसे वश में करना है उसकी तस्वीर के सामने नीचे दिए गए मंत्र का 121 बार जाप करें।

मंत्र में अमुक शब्द की जगह उसके नाम का उच्चारण करें। इसके पूर्ण होते ही महिला का दीवानापन आपके प्रति बन जाएगा। ध्यान रहे इसका प्रायोग किसी कुंवारी लड़की या अनैतिक संबंध बनाने के लिए नहीं करें। मंत्र हैः-

ऊँ कामदेवाय सम्भोगर अमुक वश वश्यं क्रू क्रू स्वाहाः!!  

कुछ टोटकेः 

किसी भी औरत को वश में करने के लिए विभिन्न किस्म के तिलक और खास तरह  के प्रयोग से भी मनोवांछित परिणाम मिलते हैं। वे इस प्रकार हैंः-  

    • जिस किसी महिला को वशीभूत करना चाहते हैं तो सुबह दिनचर्या से निवृत होने और स्नान के बाद सफेद गुंजा की जड़ को किसी पत्थर पर घिसकर तिलक लगाएं। उसके बाद उस महिला के सामने जाकर उसकी तारीफ करें। उसके वशीकरण में पागल होने का यह आपका पहला कदम होगा। 
    • इसी तरह का एक अन्य टोटका सूर्य ग्रहण के समय सहदेवी की जड़ को चंदन के साथ घिसकर उसके तिलक से किया जा सकता है। उस तिलक को देखने वली महिल वशीभूत हुए बगैर नहीं रह सकती है। उसकी पहली प्रतिक्रिया तिलक के साथ आकर्षक व्यक्तित्व की तारीफ से शुरू होती है।
    • बिजौरे की जड़ को धतूरे के बीज के साथ पीसकर उसमें प्याज का रस मिलाएं। इस तरह से तैयार मिश्रण को महिला को सुंघा दें। इससे पागलपन की हद तक वशीकरण हो जाता है। 
    • धतूरे के बीज को नरियाल तेल में कपूर के साथ मिलाकर पीस लें। उसमें शहद मिलाकर नियमित तिलक लगाएं और वशीकरण के लिए महिला के पास जाएं। इस दौरान बातचीत की शुरूआत उसकी तारीफ से करें और आगे की बातों में किसी भी तरह की शिकायत या नकारात्मक बातों को जगह नहीं दें।  
    • कुमकुम को नागकेसर चमेली के फूल के साथ मिलाकर देसी घी में मिश्रण बनाएं। उसका प्रातः पूजा के बाद एक सप्ताह तक तिलक लगाएं और सम्मोन के लिए मनोवांछित महिला के सामने जाएं। इसका असर का अनुभव तीन-चार दिनों मंे होगा। उस महिला में आपसे मिलने के बेचैनी की झलक दिखेगी। 
    • यदि केले के साथ गोरेचन का लेप तैयार किया जाए और उसे अपने सिर पर लगाया जाए उससे व्यक्ति में स्त्री को सम्मोहित करने जैसा अद्भुत आकर्षण पैदा हो जाता है। इसका असर स्त्री के दिल और दिमाग दोनों पर एक साथ होता है और वह वशीभूत हुए बगैर  नहीं रह पाती है।

आकर्षण वशीकरण मंत्र

[Total: 1   Average: 5/5]